जल्द ही भारत में शुरू होगी आईफोन SE(2020) की मैन्युफैक्चरिंग, आयात पर लगने वाला 20% टैक्स बचाएगी एपल

नई दिल्ली. एपल जल्द ही भारत में नए आईफोन SE की मैन्युफैक्चरिंग शुरू करने की तैयारी में है। रिपोर्ट के मुताबिक, देश में नए आईफोन मॉडल के आयात पर लगने वाले 20 प्रतिशत टैक्स से बचने के लिए कंपनी ने यह फैसला लिया है। एपल की ताइवान बेस्ड कॉन्ट्रैक्ट मैन्युफैक्चरर कंपनी विस्ट्रॉन भारत में आईफोन बनाने के लिए कम्पोनेंट प्राप्त करने की प्रक्रिया में हैं। 2017 में भी एपल ने इम्पोर्ट टैक्स से बचने और देश में बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए भारत में अपने कुछ आईफोन मॉडल बनाना शुरू किया था। हालांकि, कंपनी अब तक केवल पुराने आईफोन मॉडल का प्रोडक्शन कर रही है।चीन के एक एपल सप्लायर को जुलाई से भारत में विस्ट्रॉन के लिए नए आईफोन SE के लिए कम्पोनेंट भेजने के लिए कहा गया है। इस कदम से एपल को इम्पोर्ट टैक्स से बचने में मदद मिलेगी अन्यथा देश में नए आईफोन मॉडल को लाने के लिए कंपनी को यह रकम चुकानी होगी।

भारत में 12 हजार रु. मंहगा है आईफोन SE(2020) का बेस मॉडल
आईफोन SE (2020)  जिसे ओरिजन आईफोन SE के अपग्रेड वर्जन के तौर पर उतारा गया है कि भारत में शुरुआती कीमत 42,500 रुपए है। जबकि अमेरिकी बाजार में इसकी शुरुआती कीमत 30,400 रुपए है यानी भारत में इसका बेस वैरिएंट 12 हजार रुपए महंगा है। कंपनी ने इसे अप्रैल में भारत में उतारा था। कंपनी ने इसे अपने प्राइस सेगमेंट के अन्य एंड्रॉयड फोन को टक्कर देने के लिए उतारा गया था।

वर्तमान में चीन में बना रहा है नया आईफोन SE
गौर करने वाली बात यह है कि वर्तमान में उपलब्ध आईफोन SE (2020) की यूनिट्स चीन निर्मित हैं। हालांकि, सरकार ने हाल ही में देश में मोबाइल फोन की डोमेस्टिक असेंबलिंग और मैन्युफैक्चरिंग के लिए प्रोडक्श-लिंक्ड इनिशिएटिव (पीएलआई) स्कीम शुरू की है। मैनुफैक्चरर्स जैसे फॉक्सकॉन और विस्ट्रॉन, दोनों ही एपल को पूरी तरह से डिवाइस सप्लाई करते हैं ने पहले ही अपना लोकल प्रोडक्शन बढ़ाया है।

नए आईफोन SE से शिपमेंट बढ़ने की संभावना
काउंटरपॉइंट रिसर्च ने अपनी एक रिपोर्ट में खुलासा किया कि इस साल की पहली तिमाही में भारत में आईफोन शिपमेंट में 78 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, जिसके वजह आईफोन 11 को माना गया है। आईफोन SE (2020) से आने वाले भविष्य में शिपमेंट में और वृद्धि होने की संभावना है।

भारत में 2021 में शुरू करेगी फिजिकल आउटलेट
जैसे-जैसे शिपमेंट बढ़ रही है, एपल भारत में अपनी उपस्थिति दर्ज करने की योजना बना रहा है। फरवरी में सीईओ टिम कुक ने खुलासा किया कि कंपनी इस साल के अंत में अपना ऑनलाइन स्टोर स्थापित करने के लिए तैयार है, जबकि 2021 तक फिजिकल आउटलेट शुरू करने की भी योजना 2021 है। एक रिपोर्ट में बताया गया है कि एपल तीसरी तिमाही की शुरुआत में ही अपनी ऑनलाइन बिक्री शुरू कर देगा। डोमेस्टिक मैन्युफैक्चरिंग से लोकल डिमांड का पता लगाने में मदद मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *