अभय देओल ने इंस्टाग्राम पोस्ट लिखकर बॉलीवुड में गुटबाजी की पोल खोली है

सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को सुसाइड कर लिया था. उनकी मौत के बाद से बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद और पक्षपात के आरोप लगातार सामने आ रहे हैं. कहा जा रहा है कि हिंदी फिल्म इंडस्ट्री पारदर्शी नहीं है. यहां पर बाहर से आने वाले कलाकारों के साथ बुरा व्यवहार किया जाता है. इसी कड़ी में अभय देओल भी खुलकर सामने आए हैं.

उन्होंने इ्ंस्टाग्राम पोस्ट लिखकर बॉलीवुड की गुटबाजी की कलई खोली है. उन्होंने अपनी फिल्म ‘जिंदगी ना मिलेगी दोबारा’ का उदाहरण देते हुए कहा है,

‘जिंदगी ना मिलेगी दोबारा’ 2011 में रिलीज हुई थी. आजकल इस टाइटल को मुझे हर रोज बुदबुदाना पड़ता है. जब आप तनाव या बैचेन होते हैं तो इसे देखना बहुत सही रहता है.

अवार्ड शो में केवल ऋतिक-कटरीना का जलवा

अभय ने आगे लिखा कि किस तरह अवार्ड शो में केवल ऋतिक रोशन और कटरीना कैफ को ही तवज्जो दी गई. उन्होंने लिखा,

मैं यह बताना चाहूंगा कि लगभग सभी अवार्ड शो में मुझे और फरहान अख्तर को दबाया गया. हम दोनों को सहायक कलाकार की कैटेगरी में नॉमिनेट किया गया. ऋतिक और कटरीना को मुख्य भूमिका वाली कैटेगरी के लिए चुना गया. तो इंडस्ट्री के हिसाब से यह फिल्म एक पुरुष और औरत के प्यार में पड़ने की कहानी है. जिसमें उसके दो दोस्त उसके हर फैसले में मदद करते हैं.

अभय ने लिखा,

इंडस्ट्री में कई छुपे और खुले हुए तरीके हैं जिनके जरिए लोग आपके खिलाफ काम करते हैं. इस मामले में वे शर्मनाक तरीके से खुलेआम काम कर रहे थे. मैंने अवार्ड का बहिष्कार कर दिया था लेकिन फरहान को इससे फर्क नहीं पड़ा.

जहां तक बात भारत में फिल्म पुरस्कारों की है तो यह हमेशा से ही कटघरे में रहे हैं. साल दर साल इन पर सवाल उठे हैं. कई फिल्मी सितारों ने इनका बायकॉट कर रखा है. इनमें आमिर खान, अजय देवगन, सलमान खान, इमरान हाशमी जैसे नाम भी शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *